डोकलाम विवाद: चीन ने जारी किया 15 पेज का बयान, कहा-तीसरी पार्टी न बने भारत


बीजिंगः डोकलाम विवाद को लेकर भारत-चीन के बीच तनाव बरकरार है। इसी तनातनी के बीच चीन ने आज 15 पेज का बयान जारी किया है जिसमें भारत को बिना किसी शर्त के अपनी सेना को डोकलाम से पीछे हटाने को कहा है। चीन ने आरोप लगाया कि भारत भूटान को एक बहाने के तौर पर ही इस्तेमाल कर रहा है, अगर चीन और भूटान के बीच में कोई विवाद है, तो दोनों देशों के बीच ही रहना चाहिए। भारत का इसमें कोई रोल नहीं है।

चीन ने कहा कि चीन और भूटान मुद्दे पर भारत एक तीसरी पार्टी के तौर पर एंट्री कर रहा है। इससे वह अपनी ही आजादी और संप्रभुता को ही चुनौती दे रहा है। चीन ने कहा कि वह अपनी जमीन की रक्षा करने में सक्षम है, कोई भी देश हमारी संप्रभुता को चुनौती नहीं दे सकता है। साथ ही चीन ने कहा कि 18 जून को भारत के 400 से अधिक जवान करीब 180 मीटर तक चीनी इलाके में घुसे थे।

चीन जिस इलाके को अपना बता रहा है, वह डोकलाम भूटान का इलाका है। भारत में दखल न दे तो टीक है। बता दें कि इससे पहले चीन के राष्ट्रपति शी चिनपिंग ने मंगलवार को कहा था कि चीन अपनी संप्रभुता और सुरक्षा से कभी समझौता नहीं करेगा और उसकी सेना हर हमले को विफल करने के लिए आश्वस्त है।

अन्‍य ख़बरें

सुविचार

Total Visit: 221941