गर्मजोशी से मिले शी-मोदी, PM बोले-शांति के लिए सभी देशों का सहयोग जरूरी


श्यामन (चीन): पांच देशों के नेताओं की सामूहिक तस्वीरें लिए जाने के साथ ही यहां ब्रिक्स शिखर सम्मेलन शुरू हो गया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने पूरी गर्मजोशी के साथ हाथ मिलाए। पीएम ने ब्रिक्स बैठक में बोलते हुए कहा कि सभी देशों में शांति के लिए ब्रिक्स देशों का एकजुट रहना जरूरी है। मोदी ने विकासशील देशों की सरकारी एवं निजी इकाइयों की वित्तीय जरूरतों को पूरा करने के लिए ब्रिक्स रेटिंग एजेंसी के जल्द गठन पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि हम गरीबी के उन्मूलन के लिए, स्वास्थ्य, स्वच्छता, कौशल, खाद्य सुरक्षा, लैंगिक समानता, ऊर्जा एवं शिक्षा सुनिश्चित करने के लिए मिशन मोड में हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि ब्रिक्स ने अनिश्चितता की ओर बढ़ते विश्व में सहयोग, स्थिरता एवं विकास के लिए एक जीवंत खाका तैयार किया है।

चिनफिंग ने खुद की देशों की आगवानी
वहीं चिनफिंग ने सम्मेलन शुरू होने से पहले ब्राजील, रूस और दक्षिण अफ्रीका के नेताओं की अगवानी की। नौवां ब्रिक्स शिखर सम्मेलन चीन के इस बंदरगाह शहर श्यामन के कन्वेशन सेंटर में हो रहा है और मोदी यहां पहुंचने वाले तीसरे नेता थे। उनके बाद रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन यहां पहुंचे।

मंगलवार को मोदी करेंगे चिनफिंग मुलाकात
मोदी की मंगलवार को शी के साथ एक द्विपक्षीय बैठक भी होने वाली है। विवादित डोकलाम इलाके में भारत और चीन के बीच दो माह तक चले गतिरोध के बाद दोनों देशों ने 28 अगस्त को अपने अपने सीमाई सैनिकों को वापस बुलाने का फैसला किया था जिसके बाद पहली बार ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका के नेताओं की मुलाकात हो रही है। सम्मेलन के लिए यहां आए नेता एक पूर्ण सत्र में भी हिस्सा लेंगे जहां वे प्रमुख क्षेत्रों में ब्रिक्स के सदस्य देशों के बीच सहयोग बढ़ाने के तरीकों पर चर्चा करेंगे। इसके अलावा ये नेता, वैश्विक अर्थव्यवस्था और चुनौतियों सहित महत्वपूर्ण अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों पर भी मंथन करेंगे। शिखर सम्मेलन श्यामन घोषणापत्र को मंजूरी मिलने के साथ ही संपन्न हो जाएगा। यह घोषणापत्र सम्मेलन में हुए विचार विमर्शों और भावी रूपरेखा की झलक पेश करेगा।

अन्‍य ख़बरें

सुविचार

Total Visit: 242778