सेना का प्रण: आतंकियों को नहीं देखने देंगे इस बार की सर्दियां


श्रीनगर: कश्मीर घाटी में सेना ने अब आतंकियों के खत्मे का प्रण ले लिया है। शनिवार को भी सोपोर में सेना ने लश्कर के तीन आतंकियों को मार गिराया। अब तक सेना ने 122 आतंकवादियों का खात्मा कर दिया है और आंकड़ों में हर रोज बढ़ोत्तरी हो रही है। दिसम्बर 2016 तक ही सेना ने 120 दहशतगर्दों को खत्म कर दिया था। सेना ने प्रण लिया है कि इस बार आतंकियों को सर्दियां नहीं देखने दी जाएंगी और सर्दियों तक आतंकियों का सफाया कर दिया जाएगा और इसके लिए एक सोची समझी रणनीति के तहत काम किया जा रहा है।


इस वर्ष मई में सेना ने आतंकवादी सबजार भट्ट के खात्मे के साथ ही आतंकियों के खिलाफ कड़ी रणनीति का परिचय दिया। साउथ कश्मीर को आतंकियों का गढ़ माना जाता है और उसी के गढ़ से उसी के खात्मे की शुरूआत सेना ने कर दी है। कश्मीर में पिछले वर्ष से ही माहौल खराब है। आतंकवादी बुरहान वानी के मारे जाने के बाद से दहशतगर्दों की घुसपैंठ जारी रही और माहौल भी तनावपूर्ण रहा। सिर्फ यही नहीं बल्कि कश्मीर के हालातों को देखते हुए सेना प्रमुख बिपिन रावत कई बार घाटी का दौरा कर चुके हैं।

आपरेशन क्ली अप
सेना ने आरपेरशन क्लीन अप शुरू कर दिया है। वर्ष 1990 के बाद से सेना का  आतंक के खिलाफ यह सबसे बड़ा आपरेशन है।  मई में सेना ने सबसे बड़ा सर्च आपरेशन कासो शुरू किया था। इस समय घाटी में वार हजार से अधिक जवान, सीआरपीएफ और एसओजी आपरेशन क्लीप अप का हिस्सा हैं। आतंकियों को ढूंढ ढूंढ कर खत्म किया जा रहा है। सेना के पास जो लिस्ट है उसमें से दो नामों का सफाया हो चुका है और यह दोनो मोस्ट वांटेड आतंकी रहे हैं। बशीर लश्करी और अबु दुजाना का खात्मा इसका सबूत है।

अन्‍य ख़बरें

सुविचार

Total Visit: 224407