परफार्मेन्स ठीक नहीं रहा तो सांसदों के कटेंगे टिकट: दिनेश शर्मा


लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी(भाजपा)उपाध्यक्ष और गुजरात के प्रभारी रह चुके उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा है 2019 में सूबे में लोकसभा की सभी 80 सीटों को जीतने का लक्ष्य लेकर चल रही पार्टी के सांसदों के परफार्मेन्स के आधार पर टिकट देगी। 

डॉ0 शर्मा ने कहा कि पार्टी का लक्ष्य है कि उत्तर प्रदेश में लोकसभा की सभी 80 सीटें जीती जाएं। इसके लिए कार्यकर्ताओं का लगातार आह्वान किया जा रहा है। इस लक्ष्य को पाने के लिए सांसदों के परफार्मेन्स को भी देखना जरुरी है। इसलिए सांसदों की फिर से उम्मीदवारी में उनके परफार्मेंस की बड़ी भूमिका होगी। 

प्रधानमंत्री के दौरों से दूसरे मुल्कों में देश का गौरव बढऩे का दावा करते हुए उन्होंने कहा कि नरेन्द्र मोदी सरकार का 2019 में लौटना तय है, फिर भी पार्टी किसी तरह की जोखिम नहीं उठाना चाहती। परफार्मेन्स में सांसदों का कार्यकर्ताओं और जनता के साथ व्यवहार को भी देखा जायेगा। राज्य में उच्च और माध्यमिक शिक्षा विभाग का कार्य देख रहे उपमुयमंत्री ने बेबाकी से स्वीकार किया कि पाठ्यक्रमों में बदलावा जरुरी है। इसीलिए वह जल्द ही पाठ्यक्रमों में बदलाव करवाने जा रहे हैं। बच्चों को यह जानकारी दी जानी चाहिए कि बाबर आक्रांता था। 

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की परीक्षा प्रणाली और पाठ्यक्रम दोनों ही एनसीईआरटी की तर्ज पर बदले जायेंगे। सत्तर फीसदी पाठ्यक्रम एनसीईआरटी की तरह होंगे। परीक्षा प्रणाली ऐसी की जायेगी कि बच्चों को एनसीईआरटी की तरह अंक मिले और यहां के बच्चे भी मेरिट में ठीक स्थान हासिल कर सके। उन्होंने कहा कि परीक्षाकक्षों में सीसीटीवी कैमरे लगवाये जायेंगे। परीक्षा के दौरान प्रबंध समिति का कोई सदस्य परीक्षा केन्द्र के दो सौ मीटर के परिधि में नही जा सकेगा। स्कूलों में 220 दिन पढाई अनिवार्य की जायेगी। दो सौ बीस दिन कक्षाएं नहीं चलाने वाले स्कूलों की मान्यता रद्द की जायेगी। 

डॉ0 शर्मा ने कहा कि भाजपा सबका साथ, सबका विकास नारे के साथ आगे बढ़ रही है। यह कहना पूरी तरह गलत है कि पिछड़े और दलित भाजपा से कन्नी काटने लगे हैं। उनसे पूछा गया था कि मुख्यमंत्री और पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष दोनों ही सवर्ण होने की वजह से अटकलें लग रही हंै कि पिछड़ों और दलितों का भाजपा से धीरे धीरे मोह भंग हो रहा है। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि हालांकि राष्ट्रपति किसी दल का नहीं होता लेकिन रामनाथ कोबिन्द को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार भाजपा ने ही बनाया। राज्य के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य समेत कई मंत्री पिछड़े वर्ग के हैं। संगठन में भी पिछड़ों और दलितों को खूब तरजीह दी जा रही है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने डॉ0 भीमराव अंबेडकर से जुड़े पांच स्थलों को पंचतीर्थ घोषित किया है। 

राष्ट्रपति ने 14 सितंबर को और प्रधानमंत्री ने गत 22 जनवरी को लखनऊ में रखे 500 अमबेडकर के अस्थिकलश के दर्शन किये। माल्यार्पण किया।  युवा मोर्चा के अध्यक्ष रह चुके डा0 शर्मा ने कहा कि राज्य की कानून व्यवस्था काफी अच्छी हैं। बड़े बड़े अपराधी या तो जेल में है या प्रदेश के बाहर भाग गये हैं। कुछ तो मुठभेडों में मार गिराये गये हैं। एक अन्य सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि अयोध्या में राममंदिर तो बन गया है, उसे केवल भव्यता देना है। भव्यता देने का काम उच्चतम न्यायालय के आदेश या आपसी सहमति से दी जाएगी। इन दोनों वजह से मंदिर निर्माण में सफलता मिलनी है। सरकार की कोशिश होगी कि किसी तरह का खूनखराबा या टकराव न हो। 

डॉ0 शर्मा ने कहा कि रामजन्मभूमि करोड़ों लोगों की आस्था से जुड़ा है। इसलिए इस पर बने मंदिर को भव्यता देना जरुरी है, लेकिन यह आपसी सहमति या अदालत के निर्णय से होना चाहिए। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि 2019 का चुनाव विपक्ष के अस्तित्व का होगा। विपक्ष को अपना अस्तित्व बचाना मुश्किल होगा, क्योंकि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कार्यो से जनता में भाजपा के पक्ष में लहर चल रही है। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और कांग्रेस के मिलकर चुनाव लडऩे की अटकलें लगायी जा रही है। ऐसा होने पर भी भाजपा पूर्ण बहुमत की सरकार बनायेगी, क्योंकि जनता श्री मोदी पर जबरदस्त विश्वास कर रही है। 

उन्होंने कहा कि गुजरात,छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश जैसे उन राज्यों में भाजपा ने जीत हासिल की जहां पर भाजपा की किसी एक दल से सीधी लड़ायी रही। इसी तरह लोकसभा चुनाव में भी दो दलीय संघर्ष होगा तो जीत भाजपा की ही होगी। पार्टी के सदस्यता अभियान का प्रभारी रहते हुए 11 करोड 27 लाख सदस्यता कराने वाले डॉ0 शर्मा ने कहा कि लोकतंत्र का सही ढंग से पालन करने वाली भाजपा अपने अनुशासित कार्यकर्ताओं के जरिये लगातार आगे बढ रही है। राज्य सरकार की उपलब्धियों का जिक्र करते हुए डॉ0 शर्मा ने कहा कि कानून व्यवस्था लगातार बेहतर हो रही है। अपराधी या तो जेल में है या राज्य से बाहर। पुलिस ने मुठभेड़ में कई शातिर अपराधी मार गिराये। उद्योग नीति रोजगारपरक बनायी गयी । अक्टूबर 2018 से राज्यभर में 24 घंटे बिजली आपूर्ति रहेगी। पिछड़ा क्षेत्र कहे जाने वाले बुंदेलखंड के विकास के लिए कई योजनाएं चलायी जा रही है। भ्रष्टाचार पर प्रहार किया जा रहा है। भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाकर ही दम लिया जायेगा। भूमाफियाओं के खिलाफ कार्रवाई चल रही है। 

उन्होंने कहा कि देश में तेजी से बदलाव हो रहा है। अपनी संस्कृति को बचाकर रखना है। संस्कृति बचाने के लिए बचपन से ही बच्चों को शिक्षित करने की जरुरत है। बच्चों को जन्मदिवस पर केक काटने के बजाय लड्डू वितरित करने के लिए प्रेरित किया जाना चाहिए। केक काटा जाता है अर्थात् समूह को अलग किया जाता है,जबकि लड्डू छोटी छोटी बूंदी को इकट्ठा कर बनाया जाता है। इसका मतलब है कि लड्डू बिखरी चीजों को एक करने की सीख देता है।

अन्‍य ख़बरें

सुविचार

Total Visit: 279625