BHU विवादः मामले की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए चीफ प्रॉक्टर ने दिया इस्तीफा


वाराणसीः बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के चीफ प्रॉक्टर ने छात्राओं पर हुए लाठीचार्ज के मामले की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफा दे दिया है। बीती रात चीफ प्रॉक्टर ओ.एन. सिंह ने कुलपति गिरीश चंद्र त्रिपाठी को अपना इस्तीफा सौंपा जिसे स्वीकार कर लिया गया है। बता दें कि घटना के बाद जिला प्रशासन ने लाठीचार्ज पर सीओ, एसओ और 3 मजिस्ट्रेट के ऊपर कार्रवाई करते हुए पहले ही उन्हें हटाने के आदेश जारी कर चुकी है।इससे पहले मंगलवार को कमिश्नर नितिन रमेश गोकर्ण ने इस मामले में अपनी प्रारंभिक जांच रिपोर्ट मुख्य सचिव, राजीव कुमार को सौंप दी है। इस रिपोर्ट में गोकर्ण ने BHU प्रशासन को हिंसा के लिए जिम्मेदार ठहराया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि BHU ने पीड़ित की शिकायत का संवेदनशील तरीके से निपटारा नहीं किया, समय पर स्थिति को नहीं संभाला। जिससे लाठीचार्ज जैसे दुर्भाग्यपूर्ण कदम की जरूरत आ पड़ी।बता दें कि बीएचयू में हुए लाठीचार्ज का स्वत: संज्ञान लेते हुए राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग (एनएचआरसी) ने राज्य सरकार से पूरे मामले की जानकारी मांग ली है। एनएचआरसी ने राज्य के मुख्य सचिव को इस संबंध में पत्र भेजकर पूरे मामले की जानकारी मांगी है। जिसके चलते राज्य सरकार जल्द ही आयोग को पूरी जानकारी उपलब्ध कराने के साथ ही अब तक हुई कार्रवाइयों का विवरण भी भेज देगा।गौरतलब है कि छेडखानी के विरोध में गत 23 सितम्बर की रात प्रदर्शन कर रही छात्राओं और छात्रों पर लाठीचार्ज किया गया था। जिसमें कई लोग घायल हुए थे। लडकियों को इस लाठीचार्ज में चोटें भी लगी थीं। जिसके चलते बीएचयू परिसर को छावनी में तबदील कर दिया गया था। 

अन्‍य ख़बरें

सुविचार

Total Visit: 279636